वाक्य किसे कहते है ? वाक्य की परिभाषा, भेद और उदाहरण in Hindi with Examples

परिभाषा – जब दो या दो से अधिक सार्थक शब्द आपस में मिलकर किसी निश्चित अर्थ या भाव को प्रकट करते है तो उसे वाक्य कहा जाता है। 
जैसे- 
► रोहन आम खाता है। 

वाक्य के प्रकार- 

i. साधारण या सरल वाक्य
ii. मिश्र या मिश्रित वाक्य 
iii. संयुक्त वाक्य 

1. साधारण या सरल वाक्य – जब वाक्य में एक कर्ता ( उद्देश्य ) तथा एक ही क्रिया ( विधेय ) हो तो ऐसे वाक्य साधारण या सरल वाक्य कहलाते है। 
जैसे
► कपड़े धो रही है। 
► बना रही है। 
► मनुष्य का सभी सम्मान करते है। 
► सीता पुस्तक पढ़ती है। 
► राम खाना खाता है। 
► आम फलों का राजा होता है। 
► संतोष से बढ़कर कोई सुख नहीं हैं। 
► भारत एक महान देश है। 
► श्याम हँसते -हँसते रोने लगा। 
► राम प्रतिदिन चार घंटे पढ़ाई करता है। 
► रोहन क्रिकेट खेलता है। 

2. मिश्र या मिश्रित वाक्य – जब किसी वाक्य में एक उपवाक्य तथा एक से अधिक आश्रित उपवाक्य हो तो ऐसे वाक्य को मिश्र या मिश्रित वाक्य कहते है।
जैसे-
► यह वही लड़की है जो कल विद्यालय नहीं आयी थी। 
(प्रधान उपवाक्य) (आश्रित उपवाक्य) 

► गाँधी जी ने कहा की झूठ मत बोलो। 
(प्रधान उपवाक्य) (आश्रित उपवाक्य)

► यह वही लड़का है जो गाना गाता है । 
(प्रधान उपवाक्य) ( आश्रित उपवाक्य)

आश्रित उपवाक्य भी तीन प्रकार का होता है –

1. संज्ञा आश्रित उपवाक्य 
2. विशेषण आश्रित उपवाक्य 
3. क्रिया विशेषण आश्रित उपवाक्य 

1.संज्ञा आश्रित उपवाक्य –  ये वाक्य सामान्यतः ‘कि’ से प्रारम्भ होते है। 
जैसे- 
► गांधीजी ने कहा कि झूठ मत बोलो। 
► राम ने कहा कि जल ही जीवन है। 

2.विशेषण आश्रित उपवाक्य – ये वाक्य सामान्यतः जो, जिसका, जिसकी, जिसके आदि से प्रारम्भ होते है। 
जैसे- जो विद्वान होते है उनका सभी आदर करते है। 

3.क्रिया विशेषण आश्रित उपवाक्य – ये वाक्य सामान्यतः यदि, जहाँ, जैसे, यद्यपि, क्योंकि, तथापि, जब ,तब से प्रारम्भ होते है।
जैसे
► यदि रोहन मेहनत करता तो अवश्य सफल होता।  
► जैसी करनी वैसी भरनी। 
► जब राम खाना खा रहा था तब श्याम आ गया। 

नोट – मिश्र या मिश्रित उपवाक्य सामान्यतः क्योंकि , कि या  दो संयोजक शब्दों जैसे – जब-तब, जैसा-वैसा, यदि-तो, जिसका-उसकी, जीतन-उतना, जो-सो, यद्यपि-तथापि आदि से जुड़ा रहता है। 

जैसे- 
► जो जैसा करता है वो वैसा ही भरता है। 
► जिसकी लाठी उसकी भैंस। 
► जहां नारी का सम्मान होता है वहां देवता निवास करते है। 
► यदि राम मेहनत करता तो अवश्य सफल होता है
► प्रधान उपवाक्य तथा आश्रित उपवाक्य में अंतर –

प्रधान उपवाक्य    आश्रित उपवाक्य 
इनमे क्रिया मुख्य होती हैं।ये वाक्य सामान्यतः यदि, क्योंकि,जो आदि से प्रारम्भ होते है। 
इन वाक्यों को सरल उपवाक्यों में रूपांतरण करने पर  क्रिया वाक्यांत तक बनी रहती है। इनमे क्रिया का रूपांतरण हो जाता है। 

जैसे –
►” रोहन मेहनत करता तो अवश्य सफल होता। “
उपर्युक्त वाक्य को सरल वाक्य बनाने पर-
” रोहन मेहनत करने पर अवश्य सफल होता “

अतः यहाँ ध्यान से देखने पर पता चलता है कि ‘मेहनत करता ‘ क्रिया सरल वाक्य बनाने पर ‘ मेहनत करने ‘ में रूपांतरित हो गया अतः यह आश्रित उपवाक्य है। तथा ‘सफल होता ‘ क्रिया सरल वाक्य बनाने पर भी अपरिवर्तित है अतः यह प्रधान उपवाक्य है। 

1.संज्ञा उपवाक्य – वे उपवाक्य जो प्रधान उपवाक्य कि संज्ञा या संज्ञा -पदबंध के स्थान पर प्रयुक्त होता है ,संज्ञा उपवाक्य  कहलाते है। 
जैसे- रोहन ने कहा कि हम खेलना नहीं चाहते। 

2.विशेषण उपवाक्य – वे उपवाक्य जो प्रधान उपवाक्य कि किसी संज्ञा या सर्वनाम कि विशेषता बतलाते है ,विशेषण उपवाक्य कहलाते है। 
जैसे –
► जो पढ़ना नहीं चाहता ,वो जा सकता है। 
जिसने खाना नहीं खाया ,वो अब खा सकता है। 
► जो वीर होते है ,वो किसी से नहीं डरते है। 
► जो मेहनत करते है, वो अवश्य सफल होते है।
► जो भी चोरी करेगा, वो पकड़ा जायेगा। 

3. क्रिया विशेषण उपवाक्य – ये उपवाक्य सामान्यतः यदि, जहाँ, जैसे, यद्यपि, तथापि, जब,तब आदि से प्रारम्भ होते है। 
जैसे-
► तुम जितनी मेहनत करोगे ,उतना ही फल पाओगे। 
► मैं जब तुम्हारे पास आया ,तब चार बज चुके थे। 
► यदि वर्षा अच्छी होती, तो फसल बढ़िया होती। 
► जैसा बोवोगें, वैसा काटोगे। 
► जैसा तुम करोगे,वैसा ही भरोगे। 
► जैसे ही मैं  घर से बाहर आया, तभी वर्षा होने लगी। 

3. संयुक्त वाक्य – वे वाक्य जिनमें दो या दो से अधिक साधारण उपवाक्य, प्रधान  उपवाक्य या समानाधिकरण उपवाक्य किसी संयोजक शब्द ( तथा, एवं, या, अथवा, किन्यु, परन्तु, लेकिन, बल्कि, अतः ) से जुड़े हो ,संयुक्त उपवाक्य कहलाते है। 
जैसे-
► पल्ल्वी कि पढ़ने में रूचि नहीं है ,लेकिन खेल में अव्वल है। 
► राधा पढ़ती है और  सीता गाना गाती है। 
► रोहन आया किन्तु मोहन चला गया। 
► वह बहुत सुंदर है और होशियार भी है। 
► उसको आज बुखार है इसलिए आज विधालय नहीं गया। 

वाक्य -विश्लेषण 

1. साधारण वाक्य का वाक्य विश्लेषण –

मेरी बहन स्नेहा डरावनी फिल्मे बहुत देखती है।जयपुर का हवामहल एक दर्शनीय स्थान है 
कर्तास्नेहाहवामहल
कर्ता का विस्तारक मेरी बहन जयपुर का 
कर्मफिल्मे ………। 
कर्म का विस्तारकडरावनी………। 
क्रियादेखती है ………………। 
क्रिया का विस्तारकबहुत हैं। 
पूरक……………….।  स्थल।
पूरक का विस्तारक………..।   दर्शनीय

2. मिश्र या मिश्रित वाक्य का वाक्य विश्लेषण – 

उपवाक्य का प्रकार   प्रधान उपवाक्य  आश्रित उपवाक्य 
संज्ञा उपवाक्यरोहन ने कहा कि मैं आज विधालय नहीं जाऊंगा। 
विशेषण उपवाक्य  विशेषण उपवाक्य  उनका सभी आदर करते है। 
क्रिया-विशेषण उपवाक्यमुझे विश्वास है  कि आप अवश्य सफल होंगे

3. संयुक्त वाक्य का वाक्य विश्लेषण –

शिक्षक पढ़ाते है और बच्चे पढ़ते है। 

साधारण/प्रधान उपवाक्य/समानाधिकरण उपवाक्य 

संयोजक शब्द – और 
(क) शिक्षक पढ़ाते है।
(ख) बच्चे पढ़ते है। 

वाक्य रूपांतरण 

4. सरल वाक्य से संयुक्त वाक्य –

सरल वाक्यसंयुक्त वाक्य
वह विधालय आकर पढ़ने लगी। वह विधालय आई और पढ़ने लगी। 
वह घर आकर सो गया।वह घर आया और सो गया।
रोहन बीमार होने के कारण आज कार्यालय नहीं गया।  रोहन बीमार है ,इसलिए आज कार्यालय नहीं गया।
हवा का तीव्र झोंका सब कुछ उड़ा ले गया। हवा का तीव्र झोंका आया और सब कुछ उड़ा ले गया। 

5. सरल वाक्य से मिश्रित वाक्य – 

सरल वाक्य मिश्रित वाक्य
मेहनती इंसान हमेशा खुश रहते है।जो इंसान मेहनती होते है ,वे सदा खुश रहते है। 
परिश्रमी व्यक्ति अवश्य सफल होते है। जो व्यक्ति परिश्रमी होते है ,वे अवश्य सफल होते है। 
रोहन ने राधा को जल्दी उठने के लिए कहा। रोहन ने कहा की राधा को जल्दी उठना है। 
सीता ने एक डरावना सपना देखा। सीता ने एक सपना देखा , जो डरावना था। 

6. संयुक्त वाक्य से सरल वाक्य –

संयुक्त वाक्यसरल वाक्य 
आज हड़ताल है इसलिए बाजार बंद है।   आज हड़ताल होने के कारण बाजार बंद है। 
कठोर बनो परन्तु सह्रदय रहो। कठोर बनकर भी सह्रदय बनो। 
वह घर आया और उसने भोजन किया। उसने घर आकर भोजन किया।
वह बीमार है ,इसलिए आज स्कूल नहीं गया। वह बीमार होने के कारण आज स्कूल नहीं गया। 

7. संयुक्त वाक्य से मिश्रित वाक्य –

संयुक्त वाक्य     मिश्रित वाक्य
राधा ने एक किताब मांगी और वह उसे मिल गयी। राधा ने जो पुस्तक मांगी थी,वह उसे मिल गयी। 
रोहन ने एक कविता सुनाई और राधा रो पड़ी। रोहन ने ऐसी कविता सुनाई की राधा रो पड़ी। 

8. मिश्र वाक्य से सरल वाक्य –

मिश्र वाक्य सरल वाक्य
मैंने एक व्यक्ति देखा ,जो दुबला -पतला था।  मैंने एक दुबला -पतला व्यक्ति देखा।
रोहन ने कहा कि मुझे जल्दी स्कूल जाना है। रोहन ने मुझे जल्दी स्कूल जाने के लिए कहा। 
जो व्यक्ति मेहनत करता है,वह अवश्य सफल होता है। मेहनती व्यक्ति अवश्य सफल होते है। 
उसने कहा कि मैं सुन्दर हूँ।  उसने मुझे सुन्दर कहा। 

9. मिश्र वाक्य से संयुक्त वाक्य – 

मिश्र वाक्य संयुक्त वाक्य 
जो विधार्थी मेहनती होता है ,वह अवश्य सफल होते है। विधार्थी मेहनती होता है तो अवश्य सफल होता 
राधा इसलिए स्कूल नहीं आयी क्योंकि वह बीमार है। राधा बीमार है इसलिए स्कूल नहीं आयी। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *