उपसर्ग के भेद, परिभाषा, और उदाहरण in Hindi with Examples

उपसर्ग का शाब्दिक अर्थ  पूर्व में आना

उप – समीप

सर्ग – सृष्टि करना / बनाना

अर्थात् – किसी शब्द के पास आकर एक नया शब्द बनाना।

उपसर्ग की परिभाषा- वे शब्दांश जो किसी शब्द के आरम्भ में जुड़कर एक नये शब्द का निर्माण कर देते हैं उसे उपसर्ग कहते हैं।

Or

वे शब्दांश जो किसी सार्थक शब्द के पूर्व में जोड़कर अर्थ परिवर्तन की दिशा को प्रभावित करते हैं उन्हें उपसर्ग कहते हैं। अतः उपसर्ग प्रयोग के द्वारा अर्थ परिवर्तन हो भी सकता है और नहीं भी। अर्थात् आंशिक  परिवर्तन होकर नए शब्द का निर्माण भी हो सकता है।

अर्थात-  शब्दांश + शब्द = नया शब्द

Note- उपसर्ग निकालने के बाद बचा हुआ शब्द सार्थक होना चाहिए।

जैसे – 

प्र + हार = प्रहार

‘हार’ शब्द का अर्थ पराजय होता है परंतु इस शब्द के आगे ‘प्र’ शब्दांश को जोड़ने से नया शब्द प्रहार बनता है जिसक अर्थ चोट होता है।

आ + हार = आहार – भोजन

वि + हार = विहार – भ्रमण करना

  • उपसर्ग जिस शब्द में जुड़ते है उसे मूल शब्द कहते है।
  • उपसर्ग अपने आप में सार्थक शब्द नहीं है लेकिन जिस शब्द के पहले जुड़ते हैं या तो उसमें विशेषता ला देते हैं अथवा उसका अर्थ परिवर्तन कर देते हैं।
  • उपसर्गों का कोई स्वतंत्र रूप से प्रयोग नहीं होता है । वे किसी अन्य शब्दों से मिलकर सार्थक होते हैं।
  • उपसर्ग विधि से बने शब्दों का अर्थ मूल शब्द के आस-पास ही होता है।
    उपसर्गों की संख्या –
  1. संस्कृत भाषा के उपसर्ग -22
  2. हिंदी भाषा के उपसर्ग -22
  3. उर्दू (फारसी, अरबी) के उपसर्ग 
  4. अंग्रेजी के उपसर्ग 

संस्कृत के उपसर्ग – 22

उपसर्गअर्थउदाहरण
अतिअधिक, ऊपर ,परेअत्याचार, अतिशय, अतिक्रमण, अत्युक्ति,
अतिप्रिय,अतिपात, अतिजीवन, अतीव,
अत्यंत, अतिमानक
अधिश्रेष्ठ, प्रधानअधिकार, अधिराज, अधिकरण, अध्यक्ष,
अधिपति, अधिनायक,अध्ययन
अभिसामने, पासअभ्यास, अभिषेक, अभिमान, अभिज्ञ,अभिराम,
अभीभाषण, अभिभूत
अनुपीछे / समानअनुराग, अनुशासन,अनुकूल, अनुबंध,अनुयायी,
अनुरूप, अनुवाद, अनुशासन, अनुस्वार,
अनुच्छेद, अनुक्रम, अनुगामी
अपबुरा, विपरीत, अपवादअपकार, अपकर्ष, अपमान, अपराध,
अपरूप, अपवर्तन, अपव्यय, अपभ्रंश,
अपेक्षा, अपेक्षित, अपराधिक
अवबुरा, नीचा, हीनअवकाश, अवगुण, अवसर, अवसाद, अवस्था
अवांतर, अवधान, अवबोध, अवलोकन
निबड़ा, विशेषनिपट, नियजन, निलंबन, निवास, निहित,
निदेशक, नियामक, नियुक्ति, निरत, निदान
प्रतिप्रत्येक, विपरीत, ओरप्रतिक्रिया, प्रतिघात, प्रतिध्वनि, प्रतिमा,
प्रतिवाद, प्रतिरूप, प्रतिध्वनि, प्रतिशत,
प्रतिहिंसा
परिचारों, पास, ओरपरिक्रमा, परिचारिका, परिजन, परितोष,
परिपूर्ण, परिवर्तन, परिवार, परिवेश, परिश्रम
विभिन्न, विशेष, अभावविकल विनाश विनीत विन्यास विक्रम वितान
विकास विकट विकराल विख्यात,विश्लेषण,
विशेष,विलास, विलोचन, विलोम,
विवाह, विलंब, विरुद्ध
सुसरल, अच्छासुनिश्चित, सुअवसर, सुगंध, सूजन,
सुशील, सुरति, सुव्यवस्थित, सुपरिचित,
सुपुत्र, सुमन, सुपाच्य
तक, इधर, सेआजन्म,आकर्षण, आजान, आपात, आक्षेप
आदेश, आचार, आजानु, आधार, आनंद
उपपास, सहायक, छोटाउपचार, उपकार, उपनाम, उपराम,
उपहार उपार्जन, उपमान, उपाधि
उपायुक्त, उपनिषद्, उपेक्षा
उत्ऊपर, श्रेष्ठउत्कर्ष, उत्पत्ति, उद्धार, उज्ज्वल,उच्चारण,
उल्लेख, उदय, उत्पीड़न, उच्छवास
प्रआगे, अधिक, विशिष्टप्रबल, प्रगति, प्रयोग, प्रस्तुत, प्रस्थान,
प्रहसन, प्रस्तावना, प्रयास, प्रभाव
प्रयास, प्रभाव, प्ररतुत
दुर्कठिन, बुरा, विपरीतदुराशा, दुरुपयोग, दुराचार, दुर्गति,
दूरवस्था, दुर्वासा, दुर्भावना, दुर्घटना
दुस्कठिन विपरीत बुरादुष्कर्म, दुश्चिन्त, दुष्कर, दुस्साध्य,
दुस्साहस
निर्बिना/ बाहरनिराहार, निरक्षर, नीरोग, निरीक्षण,
निर्यात, निर्दोष, नीरस, निर्धन,
निर्जल, निरीह, निरंतर, निरस्त
परापीछे, विपरीत,
अधिक
पराजय, पराभव
निस्बड़ा, विशेष, विपरीतनिस्सार, निस्तेज, निस्संदेह
सम्‌तरह अच्छी ,
शुद्ध, पूर्ण, साथ
संचार, संशय, संरक्षा, सन्तोष, संकल्प,
सम्मान, सम्मोह, सम्मुख
अन्नहीं, बुराअनुपयोगी, अनुपम, अनागत, अनुपयोगी,
अनन्त, आनाहूत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *